Home » Posts tagged "Hindi Essay" (Page 203)

Hindi Essay on “Bharatiya Kisan” , ”भारतीय किसान” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi-Essay-Hindi-Nibandh-Hindi
भारतीय किसान Bharatiya Kisan Best 5 Essays on ” Bharatiya Kisan” in Hindi Essay No. 1 भारतवर्ष एक कृषि प्रधान देश है | इस देश की 70% जनसंख्या गाँवों में रहती है तथा वह खेती करती है | ये लोग कृषक कहलाते है | यद्दपि ये कृषक भारतवर्ष की रीढ़ की हड्डी है तथापि वे निर्धन है | भारत के कृषक की दशा बहुत दयनीय है | वे कठिन परिश्रम करते...
Continue reading »

Hindi Essay on “Dakiya, Patra-Vahak” , ”पत्र- वाहक, डाकिया” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

पत्र- वाहक (डाकिया) पत्र- वाहक डाक-विभाग से सम्बन्धित एक सरकारी कर्मचारी है जो विभिन्न क्षेत्रो में पत्रों का वितरण करता है | इसकी सेवाएँ देश में लिए बहुत आवश्यक व लाभदायक है | लगभग सारे देश में अनेको डाकघर है जहाँ पर अनेको पत्र-वाहक कार्यरत है | एक बड़े डाकघर का क्षेत्र विभिन्न इलाको में बंटा हुआ होता है और प्रत्येक इलाके के लिए प्राय : एक पत्रवाहक नियुक्त रहता है...
Continue reading »

Hindi Essay on “Jalpralay, Baadh Ka Drishay” , ”बाढ़ का दृश्य” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi-Essay-Hindi-Nibandh-Hindi
जलप्रलय (बाढ़) का दृश्य Jalpralay, Badh ka Drishya निबंध नंबर :01  जल प्रकृति का वह तरल पदार्थ है जो मनुष्य के लिए जीवन स्वरूप है क्योकि न तो जल के बिना जीवन की रचना ही सम्भव है न ही जीवन उसके बिना रह सकता है | मनुष्य के अतिरिक्त धरती के अन्य छोटे – बड़े जिव, पेड़ – पौधे और वनस्पतियाँ आदि सभी का जीवन जल है | और यदि जल...
Continue reading »

Hindi Essay on “Hadtal” , ”हड़ताल” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

हड़ताल Hadtal निबंध नंबर :-01 किसी भी संस्था के लोग जब किसी भी कारणवश सामूहिक रूप से कार्य करना बन्द कर देते है तो उसे हड़ताल कहा जाता है | यह वह प्रकिया है जो प्राय : अनाचार के विरोध से अथवा अधिकारों की मांग के लिए की जाती है | यह अधिकारों की मांग को पूरा करने का अमोघश्स्त्र है | आज के युग में जीवन का कोई ऐसा क्षेत्र...
Continue reading »

Hindi Essay on “Information Technology”,“Suchna Pradiyogiki” , ”सूचना प्रौद्दोगिकी” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

सूचना प्रौद्दोगिकी कम्प्यूटरो और इन्टरनेट के इस दौर में सूचना प्रौद्दोगिकी सफलता की पर्यायवाची बन चुकी है | दूरसंचार , टेलीविजन, बैकिग , व्यवसाय , उद्दोग , विज्ञान, अनुसंधान व मनोरंजन के क्षेत्रो में इसका प्रभुत्व कायम हो चुका है अब अन्य क्षेत्रो में भी यह स्वय को सिद्धहस्त सिद्ध कर देगी, ऐसा हमारा विचार है | ई.मेल और ई. कामर्स सूचना प्रौद्दोगिकी  के नये रूप है | इन्टरनेट के द्वारा...
Continue reading »

Hindi Essay on “Akal” , ”अकाल” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi-Essay-Hindi-Nibandh-Hindi
अकाल Akal निबंध नंबर :-01 दुर्भिक्ष या अकाल सब तरह के अभाव की स्थिति को कहा जाता है। आम मनुष्यों के लिए खाने-पीने की पीने की वस्तुओं का अभाव, पशुओं के चारे-पानी का अभाव ही सामान्य रूप से अकाल या दुर्भिक्ष कहा जाता है। दुर्भिक्ष का कारण यदि अभाव है, तो उस अभाव कारण क्या हो सकता है, सोचने-विचारने की बात है। ऐसा भी कहा-सुना जाता कई बार बनावटी कारणों से...
Continue reading »

Hindi Essay on “Bhikshavriti” , ”भिक्षावृत्ति” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

भिक्षावृत्ति भिक्षावृत्ति से तात्पर्य है भीख मांग कर जीविका अर्जित करना | यह हमारा जीवन – यापन का निकृष्टतम तरीका कहलाता है | इस तरीके का सहारा वे ही लोग लेते है जो अपने मान – सम्मान , पुरुषत्व और पुरुषार्थ का त्याग कर देते है | भिक्षावृत्ति के लिए लोगो को झूठ- सच्चे बहाने बनाकर अपनी हीनता प्रकट कर दूसरो के दिलो में दया की भावना जगानी पडती है, तब...
Continue reading »

Hindi Essay on “Nirdhanta ek Abhishap” , ”निर्धनता – एक अभिशाप” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

निर्धनता – एक अभिशाप निर्धनता किसी भी समाज अथवा राष्ट्र के लिए एक अभिशाप है | निर्धनता मनुष्य के जीवन की वह स्थिति है जव वह जीवन की अनिवार्यताओ से भी वंचित रह जाता है तथा बद से बदतर जीवन व्यतीत करने पर बाध्य हो जाता है | निर्धन व्यकित के लिए साड़ी दुनिया सुनी रहती है | अत : निर्धनता को अनन्त दु:ख का प्रतीक मन जाता है | आज...
Continue reading »