Home » Posts tagged "Hindi Anuched"

Hindi Essay on “Jeevan mein Sahitya ka Mahatva”, “जीवन में साहित्य का महत्त्व” Complete Essay, Paragraph, Speech for Class 7, 8, 9, 10, 12 Students.

Hindi-Essay-Hindi-Nibandh-Hindi
जीवन में साहित्य का महत्त्व Jeevan mein Sahitya ka Mahatva   मानव जीवन में साहित्य का अत्यधिक महत्त्वपूर्ण स्थान है। साहित्य के अभाव में व्यक्ति के व्यक्तित्व की कल्पना ही नहीं की जा सकती। संस्कृत की उक्ति के अनुसार- साहित्य, संगीत कला विहीन, साक्षात् पशु: पुच्छ विषाण हीनः ।   अर्थात साहित्य, संगीत और कला से रहित व्यक्ति, बिना सींग और पूँछ के पशु समान है। साहित्य जीवन का पर्याय है...
Continue reading »

Hindi Essay on “Our Native Games”, “हमारे देशी खेल” Complete Essay, Paragraph, Speech for Class 7, 8, 9, 10, 12 Students.

Hindi-Essay-Hindi-Nibandh-Hindi
हमारे देशी खेल Our Native Games   खेल-कूद हमारे जीवन में बहुत महत्त्व रखते हैं। आज हमारे विद्यार्थियों पर विदेशी खेलों का प्रभाव अधिक है। वह क्रिकेट, बैडमिन्टन.पोलो टेबल टेनिस में अधिक रुचि लेने लगे हैं। यदि हम इन खेलों को छोड कर अपने देश के महत्त्वपूर्ण खेलों की बात करें तो हमारे अपने देशी खेलों की संख्या भी कम नहीं है। फिर भी न जाने क्यों अपने देश के खेलों...
Continue reading »

Hindi Essay on “Shiksha me Khel-kood ka Mahatva”, “शिक्षा में खेल कूद का महत्त्व” Complete Essay, Paragraph, Speech for Class 7, 8, 9, 10, 12 Students.

Hindi-Essay-Hindi-Nibandh-Hindi
शिक्षा में खेल कूद का महत्त्व Shiksha me Khel-kood ka Mahatva    खेल-कूद की मानव जीवन में अत्यधिक उपयोगिता है। इनकी हमारे शरीर के लिए इतनी ही आवश्यकता है जितनी कि हमारे शरीर को स्वच्छ जलवायु तथा प्रदूषणरहित वातावरण की। जहाँ हमारे शरीर को स्वस्थ तथा निरोग रखने में पौष्टिक एवं सन्तुलित आहार अपना योगदान देते हैं, वहीं खेलें शरीर को नई स्फूर्ति प्रदान कर जीवन को शक्ति देने वाली खुराक...
Continue reading »

Hindi Essay on “Jeevan me Anushasan ka Mahatva ”, “जीवन में अनुशासन का महत्त्व” Complete Essay, Paragraph, Speech for Class 7, 8, 9, 10, 12 Students.

Hindi-Essay-Hindi-Nibandh-Hindi
जीवन में अनुशासन का महत्त्व Jeevan me Anushasan ka Mahatva    नियमबद्ध और नियन्त्रण में रह कर कार्य करना अनुशासन कहलाता है। अनुशासन मानव जीवन का एक परम आवश्यक और महत्वपूर्ण अंग है। मानव जीवन में अनुशासन का होना अति आवश्यक है। समाज का कोई भी अंग जब अनुशासनहीन हो जाता है तो अव्यवस्था फैल जाती है। विद्यार्थी में अनुशासन का होना तो परमावश्यक है। जो विद्यार्थी या व्यक्ति अनुशासन में...
Continue reading »

Hindi Essay on “Aitihasik Sthal ki Yatra” , ”ऐतिहासिक स्थल की यात्रा” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi-Essay-Hindi-Nibandh-Hindi
ऐतिहासिक स्थल की यात्रा Aitihasik Sthal ki Yatra Best 3 Essays on “Aitihasik Sthal ki Yatra” निबंध नंबर :- 01 भारत के हर प्रदेश और क्षेत्र में अनेकानेक ऐतिहासिक स्थल बिखरे पडे हैं। कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक के इलाके में प्राचीन मन्दिरों और किलों के खण्डहर स्थान-स्थान पर देखे जा सकते हैं। कश्मीर का मार्तण्ड मंदिर नवीं शताब्दी में बना था। आज वह खण्डहरों के बीच स्थित है और हजारों...
Continue reading »

Hindi Essay, Paragraph, Speech on “Adhyapak Diwas”, ”अध्यापक दिवस” Complete Hindi Anuched for Class 8, 9, 10, Class 12 and Graduation Classes

Hindi-Essay-Hindi-Nibandh-Hindi
अध्यापक दिवस Adhyapak Diwas डॉ. सर्वेपल्ली राधाकृष्णन भारत के ही नहीं, विश्व के अद्वितीय वक्ता एवं दार्शनिक थे। उन्होंने भारतीय दर्शन की प्रतिष्ठा विदेशों में स्थापित की थी। भारत वर्ष में उन्होंने अपना जीवन एक अध्यापक से प्रारंभ किया। अध्यापन कार्य में उन्नति करते-करते आप अनेक विश्व विद्यालयों में दर्शन शास्त्र के प्रोफेसर रहे। शिकागो विश्व विद्यालय में प्रोफेसर के रूप में आपने बड़ा सम्मान पाया। भारत स्वतंत्र होने पर वे...
Continue reading »

Hindi Essay, Paragraph, Speech on “Mera Priya Lekhak”, ”मेरा प्रिय लेखक” Complete Hindi Anuched for Class 8, 9, 10, Class 12 and Graduation Classes

Hindi-Essay-Hindi-Nibandh-Hindi
मेरा प्रिय लेखक Mera Priya Lekhak मानव जीवन में साहित्य का महत्वपूर्ण स्थान है। साहित्य अपने में कई विधाएँ – गद्य, पद्य, नाटक, चंपू आदि समेटे है। हर भाषा में पद्य की रचना पहले होती है, गद्य साहित्य उसके पश्चात आता है। हिन्दी में भी यही परंपरा रही। यही कारण है कि हिन्दी का गद्य साहित्य आधुनिक काल की ही देन है। पं. महावीर प्रसाद द्विवेदी के प्रभाव से हिन्दी साहित्य...
Continue reading »

Hindi Essay, Paragraph, Speech on “Mera Priya Kavi”, ”मेरा प्रिय कवि” Complete Hindi Anuched for Class 8, 9, 10, Class 12 and Graduation Classes

Hindi-Essay-Hindi-Nibandh-Hindi
मेरा प्रिय कवि Mera Priya Kavi   हिन्दी साहित्य के इतिहास में अनेकों प्रतिभाशाली कवियों का उल्लेख किया गया है। उसके अतिरिक्त भी आधुनिक युग में अनेक प्रतिभाशाली कवि है। सभी कवियों की अलग अलग शैलियाँ अलग अलग विषय है, इसी कारण कोई किसी एक कवि का प्रशंसक है तो कोई दूसरे का। मुंडे मुंडे म तिर्भिन्ना। पर मुझे तो अपने समकालीन कवि मैथिली शरणजी गुप्त सर्वाधिक प्रिय है। मैं उनका...
Continue reading »