Home » Posts tagged "Hindi Essay" (Page 209)

Hindi Essay on “Indira Gandhi” , ” इन्दिरा गांधी” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi-Essay-Hindi-Nibandh-Hindi
श्रीमती इन्दिरा गांधी Shrimati Indira Gandhi निबंध नंबर : 01 भारतीय नारी को राजनितिक उच्चता के गौरव शिखर तक पहुँचाने वाली श्रीमती इन्दिरा गांधी का वास्तविक नाम इन्दिरा प्रियदर्शिनी था | वह दुरदर्शिनी और और साहसी नारी थी | वे भारत की पहली महिला प्रधानमत्री थी | इन्दिरा प्रियदर्शिनी का जन्म 19 नवम्बर सन 1917 ई. को इलाहाबादके आनन्द भवन , यानि अपने पैतृक निवास में हुआ था | वे राष्ट्र-...
Continue reading »

Hindi Essay on “Lal Bahadur Shastri” , ” लाल बहादुर शास्त्री Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

युग पुरुष लाल बहादुर शास्त्री एक साधारण व्यक्ति का साधारण परिस्थितियों और वातावरण में जन्म लेकर भी असाधारणता एव युग पुरुषत्व को प्राप्त कर लेना वास्तव में चमत्कारिक बात कही जा सकती है | इस चमत्कार करने वाले व्यक्तित्व का नाम है  लाल बहादुर शास्त्री | ये पं. जवाहर लाल नेहरु जी के 27 मई. 1964 के आकस्मिक निधन के उपरान्त सर्वसम्मती से चुने जाने वाले भारत के दुसरे प्रधानमत्री थे...
Continue reading »

Hindi Essay on “Subhash Chander Bose” , ” सुभाष चन्द्र बोस” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस “तुम मुझे खून दो , मै तुम्हे आजादी दूँगा |” ऐसी गर्जना करने वाले भारत माता के महान सपूत थे नेताजी सुभाष चन्द्र बोस | वे उन महान विभूतियों में से एक थे जिन्होंने अपने सुखमय जीवन की बलि देकर भारतमाता के कष्टों को दूर करने का प्रयास किया था | नेताजी सुभाष चन्द्र बोस का जन्म उड़ीसा राज्य के कटक नामक नगर में 23 जनवरी सन...
Continue reading »

Hindi Essay on “Bhimrao Ambedkar ” , ” डा. भीमराव अम्बेडकर” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi-Essay-Hindi-Nibandh-Hindi
डा. भीमराव अम्बेडकर Best 4 Essays on “Bhimrao Ambedkar” निबंध नंबर :- 01  भारत में दलितों एव पिछड़े वर्गो की लड़ाई लडकर अपनी योग्यता एव सक्रिय कार्यशक्ति के आधार पर ‘भारत रत्न’ की उपाधि से सम्मानित डा. भीमराव अम्बेडकर का जन्म 14 अप्रैल सन 1891 को महाराष्ट्र की महू- छावनी में एक हरिजन परिवार में हुआ था | वे अपने माता –पिता की चौदहवीं सन्तान थे | सोलन वर्ष की अल्पायु...
Continue reading »

Hindi Essay on “Jwahar Lal Nehru ” , ” जवाहर लाल नेहरु” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

पंडित जवाहर लाल नेहरु महात्मा गांधी जी यदि स्वतंत्र भारत के राष्ट्रपिता है, तो पंडित जवाहर लाल  नेहरु को आधुनिक भारत का निर्माता माना जाता है | राजसी परिवार में जन्म लेकर तथा सभी तरह की सुख – सुविधा भरे वातावरण में पल कर भी उन्होंने राष्ट्रीय स्वतंत्रता एव आन-बान की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व त्याग दिया | पं. जवाहर लाल नेहरु का जन्म 14 नवम्बर , 1889 ई. को...
Continue reading »

Hindi Essay on “Mahatma Gandhi” , ” महात्मा गांधी” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi-Essay-Hindi-Nibandh-Hindi
महात्मा गांधी  Mahatma Gandhi  8 Best Hindi Essay on “Mahatma Gandhi”  Essay-1 भारत के राष्ट्रपिता , नव राष्ट्र के निर्माता एव भाग्य  विधाता महात्मा गांधी एक ऐसे अनूठे व्यक्ति थे जिनके बारे में नाटककार बर्नार्ड शा ने उचित ही खा था की “ आने वाली पीढियाँ बड़ी मुशिकल से विश्वास कर पाएगी की कभी संसार में ऐसा व्यक्ति भी हुआ होगा” | वे सत्य, अहिसा और मानवता के पुजारी थे |...
Continue reading »

Hindi Essay on “Laxmibai Jhansi ki Rani” , ” लक्ष्मीबाई झाँसी की रानी ” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

वीरांगना लक्ष्मीबाई (झाँसी की रानी ) झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई वह भारतीय वीरांगना थी जिसने स्वय रणभूमि में स्वतंत्रता की बलिवेद पर हँसते-हँसते अपने प्राण न्यौछावर कर दिए थे | भारत की स्वतंत्रता के लिए सन 1857 में लड़े गए प्रथम स्वतंत्रता संग्राम का इतिहास इन्होने ही अपने रक्त से लिखा था | भारतवासियों के लिए उनका जीवन आदर्श है | लक्ष्मीबाई का वास्तविक नाम मनुबाई था, जबकि नाना जी राव...
Continue reading »

Hindi Essay on “Varsha ki ek Bhayanak Raat” , ” वर्षा की एक भयानक रात” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

वर्षा की एक भयानक रात भारत अनेक ऋतुओ का देश है | यहाँ प्रत्येक ऋतु समयानुसार आती-जाती रहती है | तथा प्रत्येक ऋतु अपनी कोई-न कोई छाप हमारे दिलो पर छोड़ जाती है | गर्मी से तपती हुई धरती की प्यास बुझाने हेतु पावस ऋतु का आगमन होता है | इस ऋतु के आने पर प्रकृति आनन्द – विभोर हो उठती है | नदी नाले फुले नही समाते है | पशु-पक्षी...
Continue reading »