Home » Posts tagged "Hindi essays" (Page 65)

Hindi Essay on “Shram ka Mahatav ” , ” श्रम का महत्व” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

श्रम का महत्व संसार में आज जो भी ज्ञान-विज्ञान की उन्नति और विकास है, उसका कारण है परिश्रम – मनुष्य परिश्रम के सहारे ही जंगली अवस्था से वर्तमान विकसित अवस्था तक पहुँचा है | उसके श्रम से खेती की | अन्न उपजाया | वस्त्र बनाए | घर, मकान, भवन, बाँध, पुल, सड़कें बनाई | पहाड़ों की छाती चीरकर सड़कें बनाने, समुद्र के भीतर सुरंगें खोदने, धरती के गर्भ से खनिज-तेल निक्कालने,...
Continue reading »

Hindi Essay on “Manav Charitra ” , ” चरित्र-बल” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

चरित्र-बल      चरित्र एक महाशक्ति – बर्टल लिखते हैं – ‘चरित्र एक एसा हीरा है, जो हर किसी पत्थर को घिस सकता है |’ चरित्र केवल शक्ति ही नहीं, सब शक्तियों पर छा जाने वाली महाशक्ति है | जिसके पास चरित्र रूपी धन होता है, उसके सामने संसार-भर की विभूतियाँ, संपतियाँ और सुख-सुविधाएँ घुटने टेक देती हैं |      चरित्र पर सर्वस्व सम्पूर्ण – राणा के चरित्र पर भामाशाह का धन...
Continue reading »

Hindi Essay on “Van aur Pariyavaran” , ” वन और हमरा पर्यावरण” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

वन और हमरा पर्यावरण      वन और पर्यावरण – वन और पर्यावरण का गहरा संबंद है | ये सचमुच जीवनदायक हैं | ये वर्षा लाने में सहायक होते हैं और धरती की उपजाऊ-शक्ति को बढ़ाते हैं | वन ही वर्षा के धारासार जल को अपने भीतर सोखकर बाढ़ का खतरा रोकते हैं | यही रुका हुआ जल धीरे-धीरे सरे पर्यावरण में पुन: चला जाता है | वनों की कृपा से ही...
Continue reading »

Hindi Essay on “Vigyapan ” , ” विज्ञापन और हमारा जीवन” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

विज्ञापन और हमारा जीवन      विज्ञापन का उद्देश्य – किसी वास्तु, विचार, कार्यक्रम देश के प्रचार-प्रसार के लिए जो साधन-सामग्री प्रयोग में लायी जाती है, उसे विज्ञापन कहते हैं | विज्ञापन का उद्देश्य सम्बन्धी  वस्तु या संदेश को दूर-दूर तक फैलाना होता है |      विज्ञापनों के विविध प्रकार – विज्ञापनों के अनेक प्रकार होते हैं | सामाजिक विज्ञापनों के अंतर्गत दहेज, नशा, परिवार-नियोजन आदि संदेश आते हैं | विभिन्न कार्यक्रमों,...
Continue reading »

Hindi Essay on “Samachar Patra ” , ” समाचार-पत्र ” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

समाचार-पत्र : ज्ञान का सशक्त साधन Samachar Patra – Gyan ka Sashakt Sadhan निबंध नंबर :- 01       समाचार-पत्र की आवश्यकता – मनुष्य स्वभाव से जिज्ञासु है | वह जिस समाज में रहता है, उसकी पूरी जानकारी चाहता है | इस बहाने वह शेष दुनिया से जुड़ता है | इसी प्रवृति के कारण ही समाचार-पत्र का उदय हुआ |      इतिहास – भारत में पहला समाचार-पत्र ‘इंडिया गजट’ नाम से प्रकाशित...
Continue reading »

Hindi Essay on “Prayatan ka Mahatav ” , ” पर्यटन का महत्व” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

पर्यटन का महत्व  पर्यटन का आनंद – सैर कर दुनिया की गाफ़िल, ज़िंदगानी फिर कहाँ ? जिंदगानी गर रही तो नौजवानी फिर कहाँ ?      जीवन का असली आनंद घुमक्कड़ी में है ; मस्ती और मौज में है | प्रकृति के सौंदर्य का रसपान अपनी आँखों से उसके सामने उसकी गोद में बैठकर ही किया जा सकता है | उसके लिए आवश्यक है – पर्यटन |      पर्यटन के लाभ –...
Continue reading »

Hindi Essay on “Mobile phone ke labh aur haani ” , ” मोबाइल फोन के लाभ और हानि” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and other classes.

मोबाइल फोन  के  लाभ और हानि      मोबाइल फोन – एक सुविधा या संपति – मोबाइल फोन मनुष्य के हाथों में खेलने वाला चोबिसों घंटों का नौकर है |उसकी हैसियत इनती भर है कि वह मनुष्य की जेब में जाता है |  वहीँ से बैठा-बैठा वह बताता रहता है कि कोई आपका अपना आपसे बात करना चाहता है | अब आपकी इछ्चा है कि आप बात करें या न करें, या...
Continue reading »

Hindi Essay on “Computer aur TV ka prabhav ” , ” कंप्यूटर और टी.वी. का प्रभाव” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and other classes.

कंप्यूटर और टी.वी. का प्रभाव      कंप्यूटर और टी.वी. का बढ़ता प्रचलन – कंप्यूटर और टी.वी. आधुनिक युग के सबसे बढ़े वरदान हैं | इन दोनों ने इतनी रोचक और उपयोगी दुनिया बसा ली है कि आदमी इन्हीं की दुनिया में खोया रहना चाहता है | उन्नति की धरा के साथ चलने वाला हर मनुष्य दैनिक इन दोनों की सेवाएँ अवश्य लेता है |      सकारात्मक प्रभाव – कंप्यूटर ने सांसारिक...
Continue reading »