Home » Posts tagged "Hindi essays"

Hindi Essay/Paragraph/Speech on “Bhagya Aur Purusharth”, “भाग्य और पुरुषार्थ” Complete Essay, Speech for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

भाग्य और पुरुषार्थ Bhagya Aur Purusharth हमारे समाज में दो प्रकार की मान्यताएँ प्रचलित हैं- पहली भाग्यवाद तथा दूसरी पुरुषार्थवाद। भाग्यवादियों का विचार है कि किस्मत में जो कुछ लिखा है वह सब मिल जाएगा। ऐसे व्यक्ति न तो कोई काम करते हैं और न ही किसी काम के प्रति उनमें कोई उत्साह जागता है। दूसरी श्रेणी के व्यक्ति पुरुषार्थवादी होते हैं जिनका ध्येय है प्रमाद को छोड़ कर्मरत रहना। कर्म...
Continue reading »

Hindi Essay/Paragraph/Speech on “Naitik Shiksha ka Mahatva”, “नैतिक शिक्षा का महत्व ” Complete Essay, Speech for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

नैतिक शिक्षा का महत्व  Naitik Shiksha ka Mahatva ‘नैतिकता’ से अभिप्राय है-आचरण की शुद्धता तथा आदर्श मानवीय मूल्यों को अपनाना। सत्य, अहिंसा, प्रेम, सौहार्द, बड़ों का सम्मान, अनुशासन-पालन, दुर्बल एवं दीन-हीनों पर दया तथा परोपकार आदि गुणों को अपनाना ही नैतिकता का वरण करना है। सभी प्राणियों में ईश्वर का नूर देखना, न्याय-पथ पर चलना, शिष्टाचार का पालन करना- कुछ ऐसे मूल्य हैं जिनका वर्णन प्रत्येक धर्मग्रंथ में मिलता है। धर्म-प्रवर्तकों...
Continue reading »

Hindi Essay/Paragraph/Speech on “Mata Pita ki Shiksha me Bhumika”, “माता-पिता की शिक्षा में भूमिका” Complete Essay, Speech for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

माता-पिता की शिक्षा में भूमिका Mata Pita ki Shiksha me Bhumika माता-पिता संतान के जन्मदाता ही नहीं, सब कुछ होते हैं। भारतीय परंपरा तो माँ के चरणों में स्वर्ग मानती है ।भारतीय परम्परा मई अभिभावकों की अहम् भूमिका रही है-बच्चे के व्यक्तित्व-निर्माण में। आज भारतीय जीवन  में पाश्चात्य सभ्यता के  प्रभाव से भौतिकवादी बुधिप्रधान दृष्टिकोण व्याप्त हो रहा है। सामाजिक परिवेश में परिवर्तन आ रहा है। आज माता-पिता की संतान से...
Continue reading »

Hindi Essay/Paragraph/Speech on “Samay ka Sadupyog”, “समय का सदुपयोग” Complete Essay, Speech for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

समय का सदुपयोग Samay ka Sadupyog   समय की परख ० समय के सम्मान से ही सफलता • समय की पालक प्रकृति एक बार महात्मा गांधी से किसी ने पूछा कि “जीवन की सफलता का श्रेय आप किसे देते हैं–शिक्षा, शक्ति । अथवा धन को।” उत्तर मिला-“ये वस्तुएँ जीवन को सफल बनाने में सहायक अवश्य हैं, परंतु सबसे महत्त्वपूर्ण । है-समय की परख। जिसने समय की परख करना सीख लिया उसने...
Continue reading »

Hindi Essay/Paragraph/Speech on “Vidyarthiyo par TV ka Prabhav”, “विद्यार्थियों पर टीवी का प्रभाव” Complete Essay, Speech for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

विद्यार्थियों पर टीवी का प्रभाव Vidyarthiyo par TV ka Prabhav    प्रस्तावना • मनोरंजन के साधन के रूप में • शिक्षा के माध्यम के रूप में • निष्कर्ष टेलीविज़न की लोकप्रियता दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। यह हमारे मनोरंजन का आधुनिकतम एव सरा साधन है। इसने हमारे दैनिक जीवन, रहन-सहन पर भी प्रभाव डाला है। इस पर अनेक प्रकार के रोचक कार्यक्रमटेलीफ़िल्में, धारावाहिक, चित्रहार, चित्रगीत, संगीत, नाटक, कवि-सम्मेलन एवं खेल-जगत आदि...
Continue reading »

Hindi Essay/Paragraph/Speech on “Vidyarthi aur Anushasan”, “विद्यार्थी और अनुशासन” Complete Essay, Speech for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

विद्यार्थी और अनुशासन Vidyarthi aur Anushasan अनुशासन का अर्थ • विद्यार्थी के जीवन में अनुशासन का महत्त्व • दोनों एक-दूसरे के पूरक जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में अनुशासन की आवश्यकता होती है, क्योंकि अनुशासन के बिना शासन संभव नहीं। ‘अनुशासन’ का शाब्दिक अर्थ है-नियंत्रक द्वारा बनाए गए नियमों का अनुगमन करना अर्थात् पीछे-पीछे चलना, यदि और स्पष्ट रूप से कहें तो अनुशासन का अर्थ “व्यक्ति के विभिन्न क्रिया-कलापों को एक सीमा...
Continue reading »

Hindi Essay/Paragraph/Speech on “Padhna Likhna sikho o mehnat karne walo”, “पढ़ना-लिखना सीखो ओ मेहनत करने वालों” Complete Essay, Speech for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

पढ़ना-लिखना सीखो ओ मेहनत करने वालों Padhna Likhna sikho o mehnat karne walo शिक्षा का महत्त्व • साक्षरता अभियान • अभियान में कठिनाइयाँ • संचार माध्यमों का सहयोग शिक्षा कामधेनु के समान है जो मनुष्य की सभी इच्छाओं को प्रतिफलित करती है। शिक्षा के महत्त्व एवं आवश्यकता को देखते हुए प्रत्येक व्यक्ति की कामना होती है कि वह समय से पढ़-लिखकर परिवार एवं देश की उन्नति में सहयोग दे। किंतु भारत...
Continue reading »

Hindi Essay/Paragraph/Speech on “Sacha Mitra”, “सच्चा मित्र” Complete Essay, Speech for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

सच्चा मित्र Sacha Mitra    सच्चा मित्र कौन? • मुख्य विशेषताएँ व कर्तव्य • कैसे करें चुनाव?   सच्चा मित्र वही है जो मित्र के दु:ख में काम आता है। वह मित्र के कण जैसे दु:ख को भी मेरु के समान भारी मानकर उसकी सहायता करता है। एक सच्चा मित्र प्राणों से भी अधिक मूल्यवान होता है। मित्रता के अभाव में जीवन सूना हो जाता है। आचार्य रामचंद्र शुक्ल के अनुसार-...
Continue reading »