Home » Languages » Hindi (Sr. Secondary) » Hindi Essay on “Vigyapan ” , ” विज्ञापन और हमारा जीवन” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi Essay on “Vigyapan ” , ” विज्ञापन और हमारा जीवन” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

विज्ञापन और हमारा जीवन

     विज्ञापन का उद्देश्य – किसी वास्तु, विचार, कार्यक्रम देश के प्रचार-प्रसार के लिए जो साधन-सामग्री प्रयोग में लायी जाती है, उसे विज्ञापन कहते हैं | विज्ञापन का उद्देश्य सम्बन्धी  वस्तु या संदेश को दूर-दूर तक फैलाना होता है |

     विज्ञापनों के विविध प्रकार – विज्ञापनों के अनेक प्रकार होते हैं | सामाजिक विज्ञापनों के अंतर्गत दहेज, नशा, परिवार-नियोजन आदि संदेश आते हैं | विभिन्न कार्यक्रमों, रैलियों, आंदोलनों के विज्ञापन भी इसके अंतर्गत आते हैं | कुछ विज्ञापन विवाह, नौकरी, संपति की खरीद-बेच सम्बन्धी होते हैं | सबसे लोकप्रिय और लुभावने विज्ञापन होते हैं – व्यापारिक विज्ञापन | व्यापारी और औद्योगिक  अपने माल को दूर दूर तक बेचने के लिए अत्यंत आकर्षक विज्ञापनों का प्रयोग करते हैं |

     निर्णय को प्रभावित करने में विज्ञापनों को भूमिका – मनुष्य कौन-सा माल खरीदे-इसमें विज्ञापनों की भूमिका सबसे बड़ी होती है | कोई भी व्यक्ति दुकान पर खड़ा होकर विविध वस्तुओं में से प्रसिद्ध वस्तुओं को ही चुन पाता है | चाहे बाजार में कितने भी श्रेष्ठ साबुन उपलब्ध हों,  किन्तु ग्राहक उन्हीं को खरीदता है जिसका उनसे विज्ञापन सुना है | जब मनुष्य बहुत सारी  विविधताओं में फस जाता है तो विज्ञापन ही निर्णय करने में सहायक होते हैं | 

     विज्ञापनों का सामाजिक दायित्व – विज्ञापन प्रभावकारी होते हैं | इसलिए उनका सामाजिक दायित्व भी बहुत बड़ा होता है | प्राय: माल बेचने के लिए भ्रामक विज्ञापन दिए जाते हैं | गलत तथा दूषित माल बेचने के लिए भी आकर्षक सितारों का उपयोग किया जाता है | पीछे शाहरुख़ खान से कहा गया  कि वे कोका कोला या पेप्सी आदि हानिकारक पेयों का विज्ञापन न  करें | परन्तु उन्होंनें पैसे  के  लोभ में इसकी जिम्मेदारी सरकार पर डाल दी | वास्तव में विज्ञापन से जुड़े हर व्यक्ति का कर्तव्य है कि वे भ्रामक विज्ञापन न छापें | इससे समाज में गलत वस्तुओं और संदेशों का प्रचार होता है |

     निष्कर्ष – निष्कर्ष यह है कि विज्ञापनों में समाज की प्रभावित करने की अदभुत शक्ति है | ये सरकार, व्यापर तथा समाज के लिए वरदान हैं | परंतु गलत हाथों में पड़कर इसका दुरुपयोग भी हो सकता है | इस दुरुपयोग से बचा जाना चाहिए |

About

The main objective of this website is to provide quality study material to all students (from 1st to 12th class of any board) irrespective of their background as our motto is “Education for Everyone”. It is also a very good platform for teachers who want to share their valuable knowledge.

commentscomments

  1. it is wonderful paragraph for vigyapan aur humara jivan

  2. Saket says:

    Thank you so much…..This was just the essay I needed.

  3. Sanaya says:

    it’s also very useful for class 6-8 because mostly these types of essays are comes in exams

  4. Jesika says:

    Tq its vry helpful for me i like it once again tq so much.👌👌😊

  5. Kritika Rawat says:

    Thank u so much…worthy for class 8
    This is the essay I hv been searching👌👌👌

  6. Ritik kumar says:

    I wanna tell u a lot of thanks because i got 10/10 for this essay

  7. Ashish says:

    Thanks for providing these types of essay for us

  8. Rasika says:

    This is the best essay on this topic

  9. jahnavi mani says:

    This is the essay that I have been searching
    thanks for providing such essay

  10. Sneha says:

    It had been useful for my exam

  11. Sneha says:

    It had been very useful for my exams

  12. Sneha says:

    Bahut masth nibhandh hai issue hum bachelor acha gyan prapth kar sakthe hai

  13. Suvosree says:

    I like it as this essay is perfect among all the essays I found on this topic in the search for my hindi presentation

  14. Suvosree says:

    Nice essay for 7th standard….😚😚😚😚😚

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *