Home » Languages » Hindi (Sr. Secondary) » Hindi Essay on “Jeevan me Khelon Ka Mahatav ” , ” जीवन में खेलों का महत्व” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi Essay on “Jeevan me Khelon Ka Mahatav ” , ” जीवन में खेलों का महत्व” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

जीवन में खेलों का महत्व

     खेलों का महत्व – खेल मनोरंजन और शक्ति के भंडार हैं | खेलों से खिलाड़ियों का शरीर स्वस्थ और मज़बूत बनता है | खेलों के द्वारा उनके शारीर में चुस्ती, स्फूर्ति, शक्ति आती है | पसीना निकलने से अन्दर का मैल बाहर निकल जाते हैं | हड्डियाँ मज़बूत हो जाती हैं | शरीर हलका-फुलका बन जाता है | पाचन क्रिया तेज हो जाती है |

     खेलों का दूसरा लाभ यह है ये मन को स्थिर रखता  हैं | खिलाड़ी खेल के मैदान में खेलते ही शेष दुनिया के तनावों को भुल जाते हैं | उनका ध्यान फुटबाल, गेंद या खेल में लीन रहता है | संसार के चक्करों को भूलने में उन्हें गहरा आनंद मिलता है |

     खेल और चरित्र – खेलों की महिमा का वर्णन करते हुए स्वामी विवेकानंद कहा करते थे – “मेरे नवयुवक मित्रो ! बलवान बनो | तुमको मेरी यही सलाह है | गीता के अभ्यास की अपेक्षा फुटबाल खलेने के दुवारा तुम स्वर्ग के अधिक निकट पहुँच जाओगे | तुम्हारी कलाई और भुजाएँ अधिक मज़बूत होने पर तुम गीता को अधिक अच्छी तरह समझ सकोगे |’’ स्पष्ट है कि खेलों से मनुष्य का चरित्र ऊँचा उठता है | स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मन और स्वस्थ आत्मा निवास करती है | स्वस्थ व्यक्ति ही दुनिया से अन्याय, शोषण और अधर्म को हटा सकता है |

     महापरुषों के जीवन पर दृष्टि डालें | जिन्होंने समाज में बड़े-बड़े परिवर्तन किए, वे स्वयं बलवान व्यक्ति थे | स्वामी विवेकानंद, दयानंद, रामतीर्थ, महाराणा प्रताप, शिवाजी, भगवन कृष्ण , मरियादा  पुरुषोत्तम राम, युधिष्ठिर, अर्जुन सभी शक्तिशाली महापरुष थे | वे किसी-न-किसी प्रकार की शरीरक विद्या में अग्रणी थे | इसी कारण वे यशस्वी बन सके | बीमार व्यकित तो स्वयं ही अपने ऊपर बोझ होता है |

     खेल-भावना का विकास – खेल-भावना का अर्थ है – हार-जीत में एक-समान रहना | इसी से आदमी दुःख -सुख में एक-समान रहना सीखता है, यह खेल-भावना खेलों द्वारा सीखी जा सकती है | रोज़-रोज़ हारना और हार को सहजता से झेलना, रोज़-रोज़ जितना और जीत को सहजता से लेना-ये दोनों गुण खेलों  की देन हैं | अतः खेल जीवन के लिए अनिवार्य है |

About

The main objective of this website is to provide quality study material to all students (from 1st to 12th class of any board) irrespective of their background as our motto is “Education for Everyone”. It is also a very good platform for teachers who want to share their valuable knowledge.

commentscomments

  1. P manhas says:

    It was good and I was looking for such essay.thanks

  2. Aryan says:

    It was good essay and I looking such essay for project

  3. Anshika dwivedi says:

    It was too good

  4. Vaidehi singh says:

    This is best for my project

  5. Princee says:

    Very nice good language people can easily understand 😍😍😍😍😍😘😘😘😘😘😘😘😘😘😘😘😘😘😘😘😘😘😘🤗🤔😐☺😚😚😙😉

  6. Arti says:

    😊😊😊😊😢😢👍👍👍👌👌

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *