Home » Languages » Archive by category "Hindi (Sr. Secondary)" (Page 81)

Hindi Essay on “Pustako ka Mahatav” , ” पुस्तकों का महत्व” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

निबंध नंबर : 01  पुस्तकों का महत्व पुस्तकें : हमारी मित्र – पुस्तकें हमारी मित्र हैं | वे अपना अमृत-कोष सदा हम पर न्योछावर करने को तैयार रहती हैं | अच्छी पुस्तकें हमें रास्ता दिखाने के साथ-साथ हमारा मनोरंजन भी करती हैं | बदले में वे हमसे कुछ नहीं लेतीं, न ही परेशान या बोर करती हैं | इससे अच्छा और कौन-सा साथी हो सकता है कि जो केवल कुछ देने...
Continue reading »

Hindi Essay on “Pustkalaya aur uska sadupyog” , ” पुस्तकालय और उसका सदूपयोग” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

पुस्तकालय और उसका सदूपयोग       पुस्तकालय-ज्ञान के मंदिर – पुस्तकालय ज्ञान के मंदिर हैं | उन्नति के सभी सूत्र पुस्तकालयों में रखी पुस्तकों में सुरक्षित हैं | कोई भी विकासेच्छु मनुष्य इनकी सहायता से मनवांछित उन्नति कर सकता है |       आधुनिक पुस्तकालय – आधुनिक पुस्तकालय बड़े व्यवस्थित होते हैं | इनमें लाखों की संख्या में पुस्तकें संग्रहित होती हैं | सैंकड़ों पत्र-प्त्र्कायों आती हैं | आजकल इलेक्ट्रॉनिक साधन भी उपलब्ध...
Continue reading »

Hindi Essay on “Chatra Anushasan” , ” छात्र-अनुशासन” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

छात्र-अनुशासन अनुशासन का अर्थ और मह्त्व – अनुशासन की पहली पाठशाला है –परिवार | बच्चा अपने परिवार में जैसे देखते है, वैसा ही आचरण करता है | जो माता-पिता अपने बच्चों को अनुशासन में देखना चाहते हैं, वे पहले स्वयं अनुशासन में रहते है |       अनुशासन की प्रथम पाठशाला परिवार – अनुशासन की पहली पाठशाला है – परिवार | बच्चा अपने परिवार मन जैसे देखते है, वैसा ही आचरण करता...
Continue reading »

Hindi Essay on “Mere Adarsh Adhyapak” , ” मेरा आदर्श अध्यायक” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

मेरा आदर्श अध्यायक मेरे आदर्श अध्यायक – बचपन से अब तक मैं अनेक अध्यापकों के संपर्क में आया हूं | प्राय: सभी ने मुझे प्रभावित किआ है | परंतु जब मैं अपने आदर्श अध्यापक की खोज करने निकलता हूँ तो मुझे श्री विजयेंद्र जैन का स्मरण ही आता है |       परम स्न्नेही – विजयेंद्र जैन की सबसे बड़ी खूबी यही थी कि वे सब विदेयार्थों से मित्रवत स्नेह रखते थे...
Continue reading »

Hindi Essay on “Adarsh Vidyarthi” , ” आदर्श विद्यार्थी” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

आदर्श विद्यार्थी        अर्थ – ‘विद्यार्थी’ का अर्थ है –’ विद्या  प्राप्त करने वाला | ‘ किसी भी प्रकार की विद्या या कला या शास्त्र शीखने में लगा हुआ व्यक्ति विद्यार्थी है |        विद्यार्थी’ के गुण – विद्यार्थी का पहला और सबसे आवश्यक गुण है – जिज्ञासा | जिसे कुछ जानने की इच्छा ही न हो, उसे कुछ भी पढ़ाना व्यर्थ होता है | जिज्ञासा-शून्य छात्र उस औंधे घड़े के...
Continue reading »

Hindi Essay on “Adarsh Nagrik” , ” आदर्श नागरिक ” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

आदर्श नागरिक        आदर्श नागरिक का अर्थ – ‘आदर्श नागरिक’ से तात्पर्य है – एसा देशवासी, जिसका व्यवहार देश के ; तथा देशवासिओं के हित में हो |        नागरिक तथा देश का अभिन्न संबंध – नागरिक और देश एक-दुसरे से पूरी तरह जुड़े हुए हैं | किसी देश के नागरिक ही उसका मान-सम्मान बढ़ाते या घटाते हैं | नागरिकों से ही देश की पहचान बनती है |        देश के...
Continue reading »

Hindi Essay on “Bharatiya Gav aur Mahanagar” , ” भारतीय गाँव और महानगर ” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

भारतीय गाँव और महानगर नगर और गाँव की तुलना – भारतीय गाँव महानगर में वही संबंध होते है, जो सीधे-सादे बूढ़े बाप और उनकी अल्ट्रा माडर्न संतान में होता है | गाँव शहरों की सींचते हैं, उने धन, श्रम, माल देते है ; परंतु शहर फिर भी गाँव की और ताकते तक भी नहीं |        गाँव के सुख – भारत की अधिकांश जनता गाँव में रहकर  खेती करती है |...
Continue reading »

Hindi Essay on “Bharatiya Kisan” , ” भारतीय किसान ” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

भारतीय किसान        कृषक-संस्कृति – गाँधी जी कहा करते थे –“भारत की संस्कृति कृषक-संस्कृति है —– भारत का ह्रदय गाँवों में बसता है | गाँवों में ही सेवा और परिश्रम के अवतार किसान बसते हैं |  ये किसान नगर्वसियों के अन्नदाता हैं, सृष्टिपालक हैं |”        सादगी को महत्व – भारतीय किसान सीधा-सादा जीवन-यापन करता है | सादगी का यह गुण उसके तन से ही नहीं, मन से भी झलकता है...
Continue reading »