Home » Languages » Archive by category "Hindi (Sr. Secondary)" (Page 58)

Hindi Essay on “Parsi Dharm” , ”पारसी धर्म” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi Essays
पारसी धर्म Parsi Dharm पारसी धर्म का जन्म फारस में हुआ। वही फारस, जिसे आज हम इ्ररान के नाम से जानते हैं। पारसी धर्म की शुरुआत जोरास्टर नामक पैगंबर ने की थी। ईसा-पूर्व सातवीं शताब्दी में जोरोस्टर का जन्म अजरबैजान में हुआ था। जोरोस्टर के पिता के नाम था पोरूशरप। उसके पिता ‘स्पितमा’ वंश के थे। उनकी माता का नाम दु्रधधोवा था। वे एक श्रेष्ठ वंश की थीं। कहा जाता है...
Continue reading »

Hindi Essay on “Bodh Dharm” , ”बौद्ध धर्म” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

बौद्ध धर्म Bodh Dharm महात्मा बुद्ध बौद्ध धर्म के प्रवर्तक हैं। उनका जन्म लुंबिनी नामक स्थान पर राजा शुद्धोदन के यहां हुआ था। उनके जन्म के समय ज्योतिषियों ने बताया था कि यह बालत या तो चक्रवर्ती सम्राट बनेगा या अपने अलौकिक ज्ञान से समस्त संसार को प्रकाशित करने वाला सन्यासी। अत: इसी डर से राजा ने बालक के लिए रास-रंग के अनेक साधन जुटाए। किंतु राजसी ठाट-बाट उन्हें जरा भी...
Continue reading »

Hindi Essay on “Jain Dharm” , ”जैन धर्म” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi Essays
जैन धर्म Jain Dharm   ‘अहिंसा परमो धर्म:।’ यह जैनियों का मूल मंत्र है। जीव-हत्या उनके लिए महापाप है। कहा जाता है कि जब भारत में चारों ओर अंधेरा छाया हुआ था लोग अपना जीवन जी रहे थे, उसी समय उत्तर भारत में दो बालाकों ने जन्म लिया था। वे दोनों बालक राजकुमार थे। अरब में जो कार्य पैगंबर मुहम्मद साहब ने किया तथा जर्मन में जो काम मार्टिन लूथर किंग...
Continue reading »

Hindi Essay on “Hindu Dharm ” , ”हिंदू धर्म” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi Essays
हिंदू धर्म Hindu Dharm  हिंदू धर्म सबसे प्राचीन धर्म है। इसके माननेवाले लोग करोड़ों की संख्या में हैं। ये देवी-देवताओं के पूजन में विश्वास करते हैं। यदि प्राणी मरता है तो मरने के बाद उसे फिर से जन्म लेना होता है, हिंदू धर्म को मानने वाले इसमें विश्वास करते हैं। वे ‘कर्म के सिद्धांत’ को भी मानते हैं। विद्वानों का कहना है कि ‘सनातन’ शब्द का अर्थ शाश्वत, स्थायी और प्राचीन...
Continue reading »

Hindi Essay on “Jeevan me Dharm Ka Mahatva” , ”जीवन में धर्म का महत्व” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi Essays
जीवन में धर्म का महत्व Jeevan me Dharm Ka Mahatva  संसार में अनेक धर्म  प्रचलन में है। हर देश का अपना धर्म है। एशिया के अलग-अलग भागों में विभिन्न धर्मों का जन्म हुआ। एक बात और है कि हर धर्म ने मानव को भाईचारे और इनसानियत का पाठ पढ़ाया। सभी धर्मों का एक ही संदेश है- -मानव से प्यार करो, – सभी के प्रति अच्छा आचरण करो, – सहनशील बनो, –...
Continue reading »

Hindi Essay on “Vaisakhi” , ”वैसाखी” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi Essays
वैसाखी Vaisakhi  वैसाखी पंजाब प्रांत का प्रमुख पर्व है। सिक्खों का यह विशेष पर्व है। वैसाखी का पर्व प्रत्येक 13 अप्रैल को मनाया जाता है। इस समय तक रबी की फसल पककर तैयार हो जाती है। खेतों में सरसराती बालियों को किसान देखता है तब खुशी के मारे झूमने लगता है। लंबे समय से इस पर्व के साथ भांगड़ा-नृत्य की परंपरा भी जुड़ी है। ‘भांगड़ा’ पंजाब का लोक नृत्य है। ढोल...
Continue reading »

Hindi Essay on “Eid Ul Fitr” , ”ईद-उल-फितर” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi Essays
ईद-उल-फितर Eid Ul Fitr इसलाम धर्म में आदम और हव्वा को इनसान का पुरखा माना गया है। आदमी पुरुष था हव्वा स्त्री। देानों जन्नत में रहते थे। ख्ुादा ने दोनों को दुनिया बनाते समय बता दिया था कि उन्हें क्या करना है और क्या नहीं करना है। उन्हें एक खास फल को खाने के लिए मना किया था। पर जैसा कि मनुष्य का स्वभाव होता है, मना किए गए काम को...
Continue reading »

Hindi Essay on “Holi Rango ka Tyohar ” , ”होली रंगों का त्यौहार ” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

Hindi Essays
होली रंगों का त्यौहार  Holi Rango ka Tyohar    होली का पर्व ऋतुराज वसंत के आगमन पर फाल्गुन की पूर्णिमा को आनंद और उल्लास के साथ मनाया जाता है। इन दिनों रबी की फसल पकने की तैयारी में होती है। फाल्गुन पूर्णिमा के दिन लोग गाते-बजाते, हंसते-हंसाते अपने खेतों पर जाते हैं। वहां से वे जौ की सुनहरी बालियां तोड़ लाते हैं। जब होली में आग लगती है तब उस अधपके...
Continue reading »