Home » Languages » Archive by category "Hindi (Sr. Secondary)" (Page 2)

Hindi Essay on “Bharat ka Antriksh Abhiyan” , ”भारत का अंतरिक्ष अभियान” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

भारत का अंतरिक्ष अभियान Bharat ka Antriksh Abhiyan जोखिमों का सामना करना तथा अज्ञात की पर्तें उधेडऩा मनुष्य का जन्मजात स्वभाव माना जाता है। अंतरिक्ष मानव के लिए आदि काल से ही एक अबूझ पहली रही है, फिर भी अनेक विद्वानों और वैज्ञानिकों ने तारों, ग्रहों, उपग्रहों आदि के बारे में गणनांए की परंतु उनके अनुमानों को मूर्त रूप न दिया जा सकता क्योंकि न तो दूरबीन का अविष्कार हुआ था...
Continue reading »

Hindi Essay on “Ikkisvi sadi ki Chunotiya” , ”इक्कीसवीं सदी की चुनौतियां” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

इक्कीसवीं सदी की चुनौतियां Ikkisvi sadi ki Chunotiya चुनौतियों को स्वीकार करना मानव का सहज स्वभाव है। मानव सभ्यता का इतिहास चुनौतियों से परिपूर्ण है। जब भी हमारे समक्ष कोई बड़ी बाधा आई हमने उसका डटकर मुकाबला किया। आदि मानव खूंखार जंगली जंतुओं के बीच रहकर भी उनसे भिन्नता कायम करने में तथा स्वतंत्र अस्तित्व स्थापित करने में सफल रहा। लंबे समय तक उसे पेड़ों और गुफाओं में सोना पड़ा परंतु...
Continue reading »

Hindi Essay on “Veer Kunwar Singh” , ”वीर कुंवर सिंह” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

वीर कुंवर सिंह Veer Kunwar Singh वीर कुंवर सिंह का जन्म बिहार के भोजपुर जिले के जगदीशपुर नामक गांव में हुआ था। कुछ इतिहासकार उनकी जन्म-तारीख 12 अप्रैल 1782 बताते हैं तो कुछ 1778 के लगभग मानते हैं। उनके यहां जमींदारी चलती थी। सन 1826 में कुंवर सिंह पर अपने पैतृक जमींदारी संभालने का दायित्म आ पड़ा। उन्हें जमींदारी से प्रतिवर्ष 6 लाख रुपए नकददद की आमदनी हो जाया करती थी।...
Continue reading »

Hindi Essay on “Mangal Pandey” , ”मंगल पांडे” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

मंगल पांडे Mangal Pandey मंगल पांडे का जन्म 19 जुलाई 1827 को फैजाबाद के ‘सुरहुरपुर’ नामक गाांव में हुआ। बहुत लोगों का मानना है कि मंगल पांडे का जन्म ‘नगवा’ नामक गांव में हुआ था। यह गांव बलिया जिले के अंतर्गत आता है। मंगल पांडे ने किसी स्कूल में पढ़ाई नहीं की। उनके दादा उन्हें लिखाया-पढ़ाया करते थे। भारतवासियों पर अंग्रेजों द्वारा ढाएए गए जुल्मों से वे तंग आ चुके थे।...
Continue reading »

Hindi Essay on “Tantya Tope” , ”तात्या टोपे” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

तात्या टोपे Tantya Tope तात्या टोपे का जन्म सन 1814 में हुआ था। उनका नाम ‘रघुनाथ राव पाडुं यवलेकर’ था। सन 1818 में पेशवाई सूर्य अस्त हो चुका था। अंग्रेजों द्वारा पेशवा बाजीराव को 8 लाख रुपए पेंशन देकर कानपुर के निकट बिठुर भेज दिया गया था। उस समय बालक रघुनाथ की अवस्था मात्र चार वर्ष की थी। पेशवा के दत्तक पुत्र नाना साहब के साथ ही उनका पालन-पोषण हुआ। नाना...
Continue reading »

Hindi Essay on “Rani Laxmi Bai” , ”रानी लक्ष्मीबाई” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

रानी लक्ष्मीबाई Rani Laxmi Bai   रानी लक्ष्मीबाई का जन्म 19 नवंबर 1835 को हुआ था। उनका बचपन का नाम मनु था। सन 1842 में झांसी के महाराजा गंगाधर राव के साथ मनु का विवाह हुआ था। इस तरह मनु रानी लक्ष्मीबाई बन गई। सन 1852 में महाराज गंगाधर राव और महारानी लक्ष्मीबाई के एक संतान हुई, किंतु तीन महीने के भीतर ही उस बालक की मृत्यु हो गई। सन 1853...
Continue reading »

Hindi Essay on “Netaji Subhash Chandra Bose” , ”नेताजी सुभाषचंद्र बोस” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

नेताजी सुभाषचंद्र बोस Netaji Subhash Chandra Bose सुभाषचंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1817 को कटक में हुआ था। सन 1913 में उन्हांने कलकत्ता विश्वविद्यालय की मैट्रिक परीक्षा द्वितीय स्थान प्राप्त करते हुए उत्तीर्ण की। सन 1914 में मन की शांति के लिए वे हरिद्वार चले गए किंतु कुछ समय बाद वापस लौट आए। सन 1916 की एक घटना है। प्रेसीडैंसी कॉलेज, कलकत्ता के एक अध्यापक ओटन ने भारतीयों के लिए...
Continue reading »

Hindi Essay on “Lala Lajpat Rai” , ”लाल लाजपत राय” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

लाल लाजपत राय Lala Lajpat Rai लाल लाजपत राय का जन्म 28 जनवरी, 1865 को उनके नाना के घर हुआ था। उनके पिता का नाम मुंशी राधाकिशन गर्ग था। लालाजी सामाजिक गतिविधियों में सक्रिय तो थे ही, राजनीतिक गतिविधियों में भी खुलकर भाग लेना शुरू कर दिया। अंग्रेजों ने एक साजिश के तहत बंगाल-विभाजन की रूपरेखा तैयार की। ऐसे समय में बंगाल से बिपिनचंद्र पाल, महाराष्ट्र से लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक...
Continue reading »