Home » Languages » Archive by category "Hindi (Sr. Secondary)" (Page 120)

Hindi Essay on “Manoranjan Ke Adhunik Sadhan” , ” मनोरंजन के आधुनिक साधन” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

मनोरंजन के आधुनिक साधन Manoranjan ke Adhunik Sadhan निबंध नंबर :-01  मनुष्य दिन भर शारीरिक व् मानसिक श्रम करके थक जाता है | वह इस थकान को मनोरंजन के द्वारा दूर करना चाहता है | दैनिक जीवन के विभिन्न कार्यकलापो में उसे अनेक प्रकार की उलझने, निराशा और नीरसता का सामना करना पड़ता है | इन सभी को समाप्त करने के लिए तथा मन की एकाग्रता के लिए मनोरंजन के साधनों...
Continue reading »

Hindi Essay on “Doordarshan” , ” दूरदर्शन” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

दूरदर्शन दूरदर्शन आधुनिक वैज्ञानिक युग का महत्त्वपूर्ण आविष्कार है | यह एक ऐसा यन्त्र है, जिसकी सहायता से व्यक्ति दूर की वस्तु एव व्यक्ति को देख और सुन सकता है | इस यन्त्र की सहायता से कानो तथा आखों दोनों की तृप्ति होती है | दूरदर्शन का आविष्कार सन 1926 ई. में इंग्लैण्ड के जान एल.बेयर्ड ने किया था | दूरदर्शन मनोरंजन के साथ –साथ शिक्षा देने, जानकारी बढ़ाने , प्रसार...
Continue reading »

Hindi Essay on “Cinema ke Labh aur Haniya” , ” सिनेमा के लाभ व हानियाँ” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

चलचित्र (सिनेमा) के लाभ व हानियाँ मनुष्य के लिए मनोरंजन अत्यन्त आवश्यक है | आधुनिक युग में विज्ञान ने मानव को मनोरंजन  के अनेक साधन प्रदान किए है जैसे रेडियो , दूरदर्शन , फोटोग्राफी , चित्रकला, खेलकूद व् प्रदर्शनियाँ आदि | इनमे सबसे अधिक लोकप्रिय व् सस्ता साधन चलचित्र है | आज के युग में इसका अपना विशेष स्थान है | यह वह साधन है जहाँ धनी हो या निर्धन ,...
Continue reading »

Hindi Essay on “Telephone ke Labh aur Haniya” , ” टेलीफोन – लाभ व हानियाँ” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

टेलीफोन – लाभ व हानियाँ आज के यान्त्रिक युग में मानव को सुख- सुविधा प्रदान करने वाले अनेक आविष्कारो में से टेलीफोन (दूरभाष) एक है | टेलीफोन के आविष्कार ने मानव के बीच दुरी को कम कर दिया है | इस यंत्र के माध्यम से हम कुछ ही क्षणों में विश्व के किसी भी कोने में बैठे हुए व्यक्ति या आत्मीय जन से सम्पर्क स्थापित कर सकते है | यह आज...
Continue reading »

Hindi Essay on “Radio” , ”रेडियो” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

रेडियो आकाशवाणी अथवा रेडियो आधुनिक विज्ञान की एक ऐसी दें है जिसने आधुनिक मानव – समाज को सर्वाधिक प्रभावित एव आकर्षित किया है | यह एक ऐसा श्रव्य माध्यम है जो अनेक प्रकार की जानकारियाँ , शिक्षाएँ, समाचार आदि देने के साथ –साथ घर बैठे-बैठे अनेक तरह से हमारा मनोरंजन भी किया करता है | यह मानव का बहुत अच्छा मित्र है | रेडियो का अविष्कार इटली के मार्कोनी नामक एक...
Continue reading »

Hindi Essay on “Vishavshanti aur Bharat” , ”Bharat or Parmanu Shakti” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

विश्वशान्ति और भारत भारत सदैव अध्यात्मवादी और शान्तिप्रिय राष्ट्र रहा है | यह निशिचत है कि संसार की सुख और समृद्धि केवल शांतिपूर्ण वातावरण में ही संभव है और भारत इसके लिए सदैव प्रयत्नशील रहा है | भारत ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ तथा ‘सर्वे भवन्तु सुखिन : सर्वे सन्तु निरामया : की कामना करने वाला राष्ट्र है जिसकी मूल भावना शान्ति स्थापित करने की है | ‘बहुजन हिताय’ की भावना  रखने वाला देश...
Continue reading »

Hindi Essay on “Yudh aur Shanti” , ” युद्ध और शान्ति” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

युद्ध और शान्ति Yudh aur Shanti निबंध नंबर :- 01 मनुष्य को स्वभाव , कर्म व गुणों के आधार पर शान्तप्रकृति वाला प्राणी माना जाता है | यद्दपि प्रत्येक मनुष्य के हृदय के भीतरी भाग में कही –न- कही एक हिसक प्राणी भी छिपा रहता है | परन्तु मनुष्य का भरसक प्रयत्न रहता है कि वह भीतर का हिसक प्राणी किसी प्रकार भी जागे नही | यदि किसी कारणवश वह जाग...
Continue reading »

Hindi Essay on “Bharat or Parmanu Shakti” , ” भारत और परमाणु – शक्ति” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

भारत और परमाणु – शक्ति अणु- परमाणु को अनन्त शक्ति का पुंज माना जाता है | भारतीय परम्परा के अनुसार इस सारी सृष्टि, इसके छोटे बड़े सभी प्राणियों तथा पदार्थो की रचना उस परमाणु से ही हुई है | परमाणु – शक्ति से अनेक ऐसे शस्त्रास्त्रो का निर्माण किया जा रहा है हो व्यापक संहार और विनाश कर पाने में समर्थ हुआ करते है | आज अमेरिका , रूस , फ्रांस...
Continue reading »