Home » Languages » Archive by category "Hindi (Sr. Secondary)" (Page 120)

Hindi Essay on “Samachar Patra ” , ” समाचार-पत्र ” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

समाचार-पत्र : ज्ञान का सशक्त साधन Samachar Patra – Gyan ka Sashakt Sadhan निबंध नंबर :- 01       समाचार-पत्र की आवश्यकता – मनुष्य स्वभाव से जिज्ञासु है | वह जिस समाज में रहता है, उसकी पूरी जानकारी चाहता है | इस बहाने वह शेष दुनिया से जुड़ता है | इसी प्रवृति के कारण ही समाचार-पत्र का उदय हुआ |      इतिहास – भारत में पहला समाचार-पत्र ‘इंडिया गजट’ नाम से प्रकाशित...
Continue reading »

Hindi Essay on “Prayatan ka Mahatav ” , ” पर्यटन का महत्व” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

पर्यटन का महत्व Paryatan ka Mahatva निबंध नंबर : 01    पर्यटन का आनंद – सैर कर दुनिया की गाफ़िल, ज़िंदगानी फिर कहाँ ? जिंदगानी गर रही तो नौजवानी फिर कहाँ ?      जीवन का असली आनंद घुमक्कड़ी में है ; मस्ती और मौज में है | प्रकृति के सौंदर्य का रसपान अपनी आँखों से उसके सामने उसकी गोद में बैठकर ही किया जा सकता है | उसके लिए आवश्यक है...
Continue reading »

Hindi Essay on “Mobile phone ke labh aur haani ” , ” मोबाइल फोन के लाभ और हानि” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and other classes.

मोबाइल फोन  के  लाभ और हानि      मोबाइल फोन – एक सुविधा या संपति – मोबाइल फोन मनुष्य के हाथों में खेलने वाला चोबिसों घंटों का नौकर है |उसकी हैसियत इनती भर है कि वह मनुष्य की जेब में जाता है |  वहीँ से बैठा-बैठा वह बताता रहता है कि कोई आपका अपना आपसे बात करना चाहता है | अब आपकी इछ्चा है कि आप बात करें या न करें, या...
Continue reading »

Hindi Essay on “Computer aur TV ka prabhav ” , ” कंप्यूटर और टी.वी. का प्रभाव” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and other classes.

कंप्यूटर और टी.वी. का प्रभाव      कंप्यूटर और टी.वी. का बढ़ता प्रचलन – कंप्यूटर और टी.वी. आधुनिक युग के सबसे बढ़े वरदान हैं | इन दोनों ने इतनी रोचक और उपयोगी दुनिया बसा ली है कि आदमी इन्हीं की दुनिया में खोया रहना चाहता है | उन्नति की धरा के साथ चलने वाला हर मनुष्य दैनिक इन दोनों की सेवाएँ अवश्य लेता है |      सकारात्मक प्रभाव – कंप्यूटर ने सांसारिक...
Continue reading »

Hindi Essay on “TV vardan ya abhishap ” , ” टी.वी. वरदान या अभिशाप” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and other classes.

टी.वी. वरदान या अभिशाप      विवाद का विषय – दूरदर्शन विद्यार्थी के लिए लाभदायक है या हानिकारक ; यह प्रशन विवाद का विषय है | दूरदर्शन के लाभ तथा हानियों को हम इस प्रकार समझ सकते हैं |      ज्ञान-वृद्धि – दूरदर्शन समूची मनुष्य-जाति के लिए वरदान है | दूरदर्शन में दिखाए जाने वाले कार्यक्रमों में देश-विदेश की, जल-थल-नभ की, पहाड़ों और नदियों की, समुंद्र और रेगिस्तान की, नगर और ग्राम...
Continue reading »

Hindi Essay on “Jeevan me Computer ka Mahatav ” , ” जीवन में कंप्यूटर का महत्व” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

निबंध नंबर : 01    जीवन में कंप्यूटर का महत्व      कंप्यूटर युग – इक्कीसवीं सदी कंप्यूटर की सदी है | कंप्यूटर विज्ञान का अत्यधिक विकसित एवं बुद्धिमान यंत्र है | इसके पास ऐसा मशीनी मस्तिक है जो लाखों-करोड़ों गणनाएँ पलक झपकते ही कर देता है | जिन गणनाओं को करने के लिए मुनीम, लेखपाल और बड़े-बड़े अधिकारी दिन-रात परिश्रम  करके भी गलतियाँ किया करते थे, उन्हें यह यंत्र निर्दोष रूप...
Continue reading »

Hindi Essay on “Dainik Jeevan me Vigyaan ” , ” दैनिक जीवन में विज्ञान” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

दैनिक जीवन में विज्ञान      जन-जीवन में क्रांति – विज्ञान के विकास से जन-जीवन में क्रांति आ गई है | विज्ञान ने बड़े-बड़े उद्योगों को जन्म दिया है | यातायात, संचार और श्रम के क्षेत्र में अभूतपूर्व सुविधाएँ प्रदान की हैं | वैज्ञानिक साधनों के कारण आज पूरा विश्व कुटुंब की भांति बन गया है | विश्व की कोई भी घटना मिनटों-सैकड़ों में विश्वभर में फैल जाती है | दूरदर्शन, रेडियो,...
Continue reading »

Hindi Essay on “Vigyaan : Vardaan ya Abhishap ” , ” विज्ञान : वरदान या अभिशाप” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.

विज्ञान : वरदान या अभिशाप      विज्ञान एक वरदान – अर्केडियन फरार लिखते हैं- “विज्ञान ने अंधों को आँखों दी हैं और बहरों को सुनने की शक्ति | उसने जीवन को दीर्घ बना दिया है, भय को कम कर दिया है | उसने पागलपन को वश में कर लिया है और रोग को रौंद डाला है |” यह उक्ति सत्य है | विज्ञान की सहायता से असाध्य रोगों के इलाज ढूंढ...
Continue reading »