Home » Languages » Archive by category "Hindi (Sr. Secondary)"

Hindi Letter “Pasandida T.V. karyakram ke bare me channel ko Patra”,”पसंदीदा टी. वी. कार्यक्रम के बारे में चैनल को पत्र ”, Complete Hindi Letter.

अपने किसी प्रिय टी0 वी0 कार्यक्रम की विशेषताओं का उल्लेख करते हुए उस चैनल विशेष के कार्यक्रम अधिकारी को एक पत्र लिखिए।     सेवा में,   कार्यक्रम अधिकारी, जी0 टी0 वी0 चैनल, दूरदर्शन केन्द्र, नई दिल्ली।     महोदय, आपके जी0 टी0 चैनल द्वारा आजकल एक धारावाहिक कार्यक्रम प्रसारित किया जा रहा है- ‘ बालिका वधू ’। यह कार्यक्रम एक अच्छे सामाजिक उ६ेश्य की ओर जन-जागरण करने का काम कर...
Continue reading »

Hindi Letter “Badhte Pradushan ke bare me Vibhag ko Patra”, “बढ़ते प्रदुषण के बारे में विभाग को पत्र “, Complete Hindi Letter.

आपके क्षेत्र में स्थित औद्यौगिक संस्थान का गंदा पानी आपके नगर की नदी को दूषित कर रहा है। प्रदूषण नियंत्रण विभाग के मुख्य अधिकारी को पत्र द्वारा इस समस्या से आवगत कराइए।   सेवा में,   मुख्य अधिकारी, प्रदूषण नियंत्रण विभाग, राजनिवास मार्ग, नई दिल्ली।     विषय: जल प्रदूषण   महोदय, मैं इस पत्र के माध्यम से आपका ध्यान सीलमपुर क्षेत्र में स्थित औद्यौगिक संस्थान द्वारा बहाए जा रहे गंदे...
Continue reading »

Hindi Letter “Dhumrapan ke bare me Pradhancharaya ko Patra”,”धूम्रपान कर रहे विद्यार्थियों के बारे में प्रधानाचार्य को पत्र लिखिए, ”, Complete Hindi Letter.

आप विद्यालय के वार्षिकोत्सव में एक नाटक प्रस्तुत कर रहे हैं। पूर्वाभ्यास के बीच आपने पाया कि दो विद्यार्थी बाहर धूम्रपान कर रहे हैं। आपको कैसा लगा? अपने प्रधानाचार्य को पत्र लिखकर स्पष्ट कीजिए।     सेवा में,   प्रधानाचार्य, राष्ट्रीय विद्यालय, जयपुर।     महोदय, मैं आपका ध्यान अपने विद्यालय के विद्यार्थीयों में बढ़ती धूम्रपान की प्रवृति की ओर आकर्षित करना चाहता हूँ ताकि इस समस्या का समाधान खोजा जा...
Continue reading »

Hindi Letter for “Pustkalaya me samanya gyan ki pustake mangane hetu”,”पुस्तकालय में सामान्य ज्ञान की कुछ पुस्तकें मंगाने”, Hindi Letter for Class 10, Class 12 and Graduate Classes.

अपने विद्यालय के प्रधानाचार्य को पत्र द्वारा अनुरोध कीजिए कि विद्यालय के पुस्तकालय में सामान्य ज्ञान की कुछ पुस्तकें मंगाने की व्यवस्था करें।     सेवा में,   प्रधानाचार्य, बाल भारती पब्लिक स्कूल, द्वारका, नई दिल्ली।     महोदय, मैं आपका ध्यान इस विद्यालय के पुस्तकालय में सामान्य ज्ञान की पुस्तक के अभाव की ओर दिलाना चाहता हूँ। हमारे पुस्तकालय में पाँच साल पुरानी किनाबें हैं। इनमें वर्णित सामान्य ज्ञान काफी...
Continue reading »

Hindi Essay, Paragraph, Speech on “Mere Vidyalaya ka Pustkalaya”, “मेरे विद्यालय का पुस्तकालय” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation Classes.

मेरे विद्यालय का पुस्तकालय Mere Vidyalaya ka Pustkalaya                    मेरे विद्यालय में एक पुस्तकालय है। यह पुस्तकालय एक बहुत बड़े कमरें में है। इस कमरे मंे लगभग 20 अलमारियाँ हैं। इन अलमारियों में विभिन्न विषयों की पुस्तकों को बहुत ही सहेजकर रखा गया है। हमारे  पुस्तकालय के अध्यक्ष ने इन पुस्तकों को विभिन्न शीर्षकों में बाँटकर सुचीबद्ध कर रखा है, ताकि हमें अपनी इच्छानुसार पुस्तकें ढूँढ़ने में सुविधा रहे। हमारे...
Continue reading »

Hindi Essay, Paragraph, Speech on “Sachin Tendulkar ki Uplabhdiya”, “सचिन तेंदुलकर की उपलब्धियाँ” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation Classes.

सचिन तेंदुलकर की उपलब्धियाँ Sachin Tendulkar ki Uplabhdiya                   दुनिया के बेहतरीन शब्दकोश में सचिन तंेदुलकर की उपलब्धियों की व्याखया करने वाले सही शब्द नहीं मिल पाएँगें। एक लंबे समय से किक्रेट की दुनिया में सचिन जैसा बल्लेबाज देखने को नहीं मिला। उनके जैसे विनम्र लेकिन देश के लिए दृढ़ आत्मविश्वास के साथ खेलने वाले किक्रेट खिलाड़ी कम ही देखने को मिलते हैं। उन्होंने अपने स्कूल शारदाश्रम से अपने खिलाड़ी...
Continue reading »

Hindi Essay, Paragraph, Speech on “Mahangi Shiksha ki Samasya”, “मंहगी शिक्षा की समस्या” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation Classes.

मंहगी शिक्षा की समस्या Mahangi Shiksha ki Samasya                     भारत में शिक्षा निरंतर मंहगी होती चली जा रही है। अब शिक्षा दो प्रकार की हो गई है- गरीबों की शिक्षा और अमीरों की शिक्षा। गरीब सरकारी रहमोकरम पर छोड़ दिए गए हैं जबकि अमीर अपने धन के बल पर महंगी शिक्षा पाने में सफल हो जाते हैं। अब शिक्षा एक व्यवसाय का रूप ले चुकी है। इसमें केवल धन...
Continue reading »

Hindi Essay, Paragraph, Speech on “Jativad ka Vish”, “जातिवाद का विष” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation Classes.

जातिवाद का विष Jativad ka Vish                   हमारे देश में विगत एक दशक से जातीयता का विष बुरी तरह से व्याप्त होता चला जा रहा है। वैसे तो जातीयता की भावना बहुत पुरानी है, पर राजनीति ने इसको एक नई धार दे दी है। वोटों की राजनीति जातीयता पर आधारित रहती है। सभी पार्टियाँ मंच पर तो आदर्शवादिता की दुहाई देती हैं, पर उनके चिंतन में जातीयता घुसी होती है।...
Continue reading »